electronics technician repair skills -आत्म निर्भर टेक्निशियन कैसे बने ?

आत्म निर्भर टेक्निशियन कैसे बने? इलेक्ट्रॉनिक के क्षेत्र में एक बेहतर मुकाम हासिल करना चाहते हैं. एक उच्च स्तर का इलेक्ट्रॉनिक विशेषज्ञ बनना चाहते हैं. तो यह आर्टिकल आपके लिए है. कहते हैं जब इंसान की कोई शुरुआत अच्छी हो तो सफर भी अच्छा हो जाता है. और मंजिल का मुकाम और भी अच्छा होता है. दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं. इलेक्ट्रॉनिक्स में आत्मनिर्भर टेक्नीशियन बनने के लिए हमारे पास किस प्रकार की खूबी होनी चाहिए-

electronics technician repair skills

आप इलेक्ट्रॉनिक में काम कर रहे हैं या इलेक्ट्रॉनिक के क्षेत्र में शुरुआत करना चाहते हैं. आप इलेक्ट्रॉनिक के किसी भी विषय पर अपना सफर शुरू करना चाहते हैं. तो आप हमारी नीचे बताई हुई बातों को ध्यान में रखते हुए इलेक्ट्रॉनिक्स में काम करना शुरू करते हैं या सीखना शुरू करते हैं. तो आप कभी भी इलेक्ट्रॉनिक्स में फेल नहीं होंगे, आप हमेशा आगे बढ़ते रहेंगे आपके अंदर ऐसी कला जागृत हो जाएगी-

जो आपको खुद अपना गुरु बना देगी और आप खुद से हर किसी समस्या का समाधान ढूंढने में सक्षम होंगे,
तो चलिए शुरू करते हैं. दोस्तों आपने तो सुना ही होगा कि दिल से अगर कोई काम करते हैं बिना फल की चिंता किए बगैर तो आपको उस काम के प्रति हृदय से लगाव हो जाता है. और आप उस काम के प्रति

उस विषय की गहराई में उतरने लगते हैं. जब आप दिल से गहराई में उतरते हैं तो आप उसकी दुनिया में लीन होने  लगते हैं. और वह दुनिया भी आपका दिल से स्वागत करती है. आप चीजों को इस प्रकार से समझने लगते हैं. मानो आप उसके अस्तित्व की कड़ियां कैसे-कैसे जुड़ी हैं आप समझने लगते हैं. और इसी प्रकार से कड़ियां जोड़ते जोड़ते आप उस कड़ी तक पहुंच जाते हैं. जहां पर शायद आपको नयापन लगने लगता है. और उस स्थान पर पहुंचने के बाद. आपको पता ही नहीं चलता कि आप कब उस मुकाम पर पहुंच गए-

और वह मुकाम होता है. अविष्कार के जनक की दोस्तों यहां पर हमने व्यापार या बिजनेस की बात नहीं की है. हमने बात की है हुनर की ज्ञान की शिक्षा की. बिजनेस या व्यापार अपने जगह पर है. दोस्तों आप अपने अपने क्षेत्र के ज्ञान में चीजों को सीखें या करें तो दिल से करें आपको सही रास्ता नजर आने लगेगा, रही बात ज्ञान की हम ज्ञान कहां से प्राप्त करें, तो हर कोई एक दूसरे से ही ज्ञान प्राप्ति की शुरुआत करता है. जब चीजें समझ में आने लगती हैं. तो आप खुद से ज्ञान प्राप्त करना यह सीखना शुरू कर देते हैं-

बस आपको किसी भी चीज के बारे में जानना है. सीखना है समझना है. जिसके बारे में भी मेहनत कर रहे हैं. आपको सिर्फ हिंट की जरूरत होती है और आप तुरंत समझ जाते हैं और आप ज्यादा मेहनत करते हैं तो आपको और भी नए-नए रास्ते नजर आने लगते हैं. जैसे मैं एक उदाहरण देना चाहूंगा मान लीजिए आप इलेक्ट्रॉनिक क्षेत्र से हैं तो आपके लिए इलेक्ट्रॉनिक से ही उदाहरण दे रहा हूं-

अब मान लीजिए आप काफी लंबे समय से इलेक्ट्रॉनिक्स के क्षेत्र में काम कर रहे हैं. तो आप अपने आप से कैसे नया कुछ सीख सकते हैं. आप अपना गुरु अपने आप को ही कैसे बना सकते हैं जैसे, आप चीजों में अपने सवाल रखिए, आप हर एक एक स्थान पर अपने प्रश्न रखिए, जैसे हम लोगों के पास कॉम्पोनेंट्स होते हैं बहुत सारे,  आपने अब तक यही पढ़े होंगे कि मान लीजिए डायोड है. तो वह एसी को डीसी में बदलने का काम कर रहा है. और भी कंपोनेंट्स जो भी हैं तो वह अपने अपने कार्य कर रहे हैं. यह सब चीजें तो सभी को पता हो जाती हैं. क्योंकि सभी लोगों को यह सब चीजें पढ़ाई जाती है. यह एक कॉमन बात होती है.

अब इसमें आप नया कैसे कुछ ढूंढ सकते हैं. कि आखिर इस डायोड के अंदर कुछ नया भी राज हो सकता है. जैसे अब डायोड के सिंबल के बारे में आपको पता है. लेकिन क्या आपने कभी यह अंदाजा भी लगाया कि आखिर जो  यह डायोड को जो सिंबल मिला है. तो वह डायोड को सिंबल उसी प्रकार से ही क्यों उसे मिला है. जब कोई विद्वान किसी खोज की शुरुवात करता है. तो उस खोज  कोई तो नाम देना होता है. कोई उसे सिंबल कोई उसे पहचान देनी होती है.जैसे कि एक इंसान का नाम और पहचान होता है.

 तो ठीक उसी प्रकार से आपने कभी इसके बारे में ध्यान दिया कि कोई भी इलेक्ट्रॉनिक्स का कंपोनेंट्स है तो उसे उसी प्रकार से उसके सिंबल को क्यों दिया गया है. तो मैं आपको उदाहरण के तौर पर बता रहा हूं कि डायोड एक फारवर्ड बायस डिवाइस होता है इसलिए उसे एक सिंबल फॉरवर्ड एरो के रूप में दिखाया गया है. डायोड को सप्लाई  सिर्फ फॉरवर्ड किया जा सकता है. उसे एनोड के थ्रू दें या फिर कैथोड के सिर्फ और सिर्फ फारवर्ड बायस में ही काम करेगा, चाहे आप कोई भी डायरेक्शन में कर दें, इसलिए उसे फॉरवर्ड एरो का निशान मिला है.

इसी प्रकार से हर एक कंपोनेंट के पीछे नाम रखने पहचान देने, इस प्रकार की जो जानकारी होती है आप खुद से सीखना शुरू करें आप सवाल को ढूंढना शुरू करें और आपको जवाब अपने आप से मिलने लगेगा,

दोस्तों इस लेख के माध्यम से हमने यही बताने की कोशिश की है. कि आप जो भी करें दिल से करें आप चीजों में प्रश्न रखें यह कैसे हुआ है क्यों हुआ है. जब आपके पास प्रश्न होगा तभी आपके पास उत्तर मिलेगा, इस प्रकार से इलेक्ट्रॉनिक में काम करते हुए. चौतरफा दिमाग चलाते हुए आगे बढ़े और इस प्रकार आप इलेक्ट्रॉनिक्स के माहिर या विशेषज्ञ बन सकते हैं. और आत्मनिर्भर बनेंगे सिर्फ आपको हिंट की आवश्यकता होगी और आप तुरंत समझ जाया करेंगे। आप दिल से मेहनत करेंगे 100 % आपको रास्ता नजर आने लगेगा,

दोस्तों अब आप को मोटिवेट करने इलेक्ट्रॉनिक का ज्ञान देने एवं बिजनेस व्यापार ऑनलाइन मनी मेकिंग- अविष्कार संबंधित ऐसे ही आपके लिए ज्ञानवर्धक जानकारी लाता रहूंगा, आशा करते हैं आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा होगा, अगर अच्छा लगा हो तो आप हमारे वेबसाइट को सब्सक्राइब कर लीजिए ताकि जब भी हम कोई नया आर्टिकल पब्लिश करे तो आपके यहां पहुंच सके सब्सक्राइब करने के लिए नीचे दाहिने तरफ बेल के आइकन (घंटी ) पर क्लिक करें बिल्कुल फ्री है.

दोस्तों आपने जिस प्रकार से हमें यूट्यूब पर प्यार और सहयोग एवं सम्मान दिया वैसे ही यहां भी अपना सपोर्ट और आशीर्वाद बनाए रखिएगा, और मैं भी अपने काम को पूरी निष्ठा एवं साफ मन से करता रहूंगा,

"धन्यवाद दोस्तों"

टिप्पणियाँ

  1. Sir aap ne bhut achhi baat batai sir aap bhut bhut sukriya..sir live aaye to aur maja aayega aap se mil ke...

    जवाब देंहटाएं
  2. सर आप बहुत अच्छी तरीके से समझाते हैं और वह समझ में भी आ जाता है धन्यवाद आपका

    जवाब देंहटाएं
  3. सर आप बहुत अच्छे तरीके से समझते है

    जवाब देंहटाएं
  4. Sir aapko bahut ache se sanjhate hai
    Sir hhmd k bare Mai bhi game jankari chahiye sir

    जवाब देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

business idea for electronics technician, इलेक्ट्रॉनिक्स टेक्निशियन के लिए बिजनेस आइडिया

Complete information about diode । डायोड की सम्पूर्ण जानकारी सिर्फ एक अध्याय में