संदेश

Future post

test

एक दिन महात्मा बुद्ध, प्रवचन सभा में आकर मौन बैठ गये, सारे शिष्य , उनके इस मौन के कारण चिंतित हुए, कि कहीं महात्मा बुद्ध बीमार तो नहीं है। आखिर कार  एक शिष्य ने पूछ ही लिया, "भन्‍ते ! आप आज इस तरह चुप  क्‍यों हैं?” वे नहीं बोले तो दूसरे शिष्य ने फिर पूछा -"गुरुदेव ! आप ठीक तो हैं?” बुद्ध फिर भी मौन ही बैठे रहे। इतने में बाहर से एक व्यक्ति ने, तेजी से चिल्लाते हुए पूछा,“आज आपने मुझे धर्मसभा में आने की अनुमति क्‍यों नहीं दी?" बुद्ध ने कोई उत्तर नहीं दिया, और आंखें बन्द कर ध्यानमग्न हो गये। वह बाहर खड़ा व्यक्ति, और जोर से चिल्ला कर बोला- "मुझे धर्मसभा में क्यों नहीं आने दिया जा रहा है?” धर्मसभा में बैठे, बुद्ध के शिष्यों में से एक ने, उस इंसान का समर्थन करते हुए कहा- “भन्ते! उसे धर्मसभा में आने की अनुमति प्रदान करे ।” महात्मा बुद्ध ने आंखें खोलीं और बोले- "नहीं, उसे अनुमति नहीं दी जा सकती , क्योंकि वह अछूत है।” “अछूत ! लेकिन क्यों?” सारे शिष्य सुनकर आश्चर्य में पड़ गये, कि भन्ते यह छुआछूत कब से मानने लग गये? महात्मा बुद्ध ने, शिष्य समुदाय के मन के भावों को तोड़ते

What is MOV how all information, MOV क्या है कैसे सभी जानकारी

 MOV क्या है ? MOV का फुल फॉर्म होता है, metal oxide varistor, मेटल ऑक्साइड वेरिस्टर,

LED TV SMPS full detail, एलईडी टीवी एसएमपीएस पूरी जानकारी

चित्र
 LED TV SMPS - हेलो दोस्तों नमस्कार-  इस लेशन में हम आपको एलईडी टीवी एसएमपीएस की संपूर्ण जानकारी विस्तार से देने वाले हैं. सबसे पहले आप एसएमपीएस के डायग्राम को एक बार ध्यान से देख लें, एसएमपीएस के पावर इनपुट के स्थान से देखना शुरू करें और उसके बाद आप संपूर्ण डायग्राम को देखें, इस एसएमपीएस के अंदर CN 800 इसका मतलब कनेक्टर CN 800 से एसी करंट इनपुट कराया जा रहा है उसके बाद एसी करंट का एक कनेक्शन सीएन CN 805 जो कि स्विच है स्विच के जरिए फ्यूज को जा रहा है यहां पर एक जंपर लगाया जा रहा है स्विच को ऑन करने के लिए JMP1 दर्शाया गया है. F 800 - एक फ्यूज है लगभग 3 एंपियर का 250 वोल्ट के रेंज में अगर आप इस फ्यूज को वाट में कैलकुलेट करना चाहते हैं तो आपको एंपियर गुड़े बोल्ट करना होगा और उसका रिजल्ट वाट में मिल जाएगा, जैसे  ( 3.15 A X 250 volt= 787.5 WATT ) का फ्यूज है, उसके बाद RT 1 एक थर्मिस्टर है जिसे NTC कहा जाता है. NTC एक प्रकार का रजिस्टर ही होता है जिसे temperature-dependent रजिस्टर भी कहा जाता है.यह आपको अक्सर डीटीएच की पावर सप्लाई या फिर एलईडी टीवी पावर सप्लाई के अंदर देखने को मिल जाता है ज

LED TV SMPS full detail

चित्र
 

what is ntc how why all information ?,एनटीसी क्या है कैसे क्यों सभी जानकारी

चित्र
 NTC क्या है ? एनटीसी का फुल फॉर्म होता है, negative temperature coefficient, इसे थर्मिस्टर भी कहते हैं. और इसे टेंपरेचर सेंसर या फिर temperature-dependent रजिस्टर के नाम से भी जानते हैं - NTC- एक प्रकार का रजिस्टर ही है जो नॉनलीनियर रजिस्टर की श्रेणी में आता है. इस कंपोनेंट्स के ऊपर टेंपरेचर का प्रभाव पढ़ने पर इसके मान में बदलाव आता है. सिर्फ और सिर्फ यही एक काम है. लेकिन इसका इस्तेमाल अनेक प्रकार से किया जा सकता है और अनेक प्रकार से लाभ भी उठाया जा सकता है-  NTC कैसे काम करता है ? इस थर्मिस्टर के मान में बदलाव तब आता है जब इसे गर्म किया जाता है. जैसे उदाहरण के तौर पर- नॉर्मल स्थिति में इसका मान 15 OHMS ( Ω) है  तो अगर आप इसे गर्म करते हैं तो इसे टेंपरेचर मिलते ही इसके मान में परिवर्तन होने लगेगा और इसका मान नीचे की तरफ आएगा यानी 15 Ω  से कम की तरफ आएगा और ज्यादा गर्म होने पर इस का मान 2 से 5 Ω  के आसपास आ सकता है. इसका मतलब यह है कि जितना ज्यादा गर्म होगा उतना इसके  Ω  की वैल्यू कम होगा और करंट को ज्यादा जाने देगा क्योंकि  Ω  कम हो रहा है गर्म होने के बाद, अब इसका इस्तेमाल करके सर्कि

Complete Details of Bridge Rectifiers Devices, ब्रिज रेक्टीफायर्स का पूरा विवरण

चित्र
bridge rectifiers devices हेलो दोस्तों - आपने पिछले लेसन में सिखा डायोड की छमता, उसका इस्तेमाल किस प्रकार से होगा, हाफ वेव रेक्टिफायर ,फुल वेव रेक्टिफायर सर्किट, एवं डायोड के नंबरिंग सिस्टम को समझा आपने अब आपकों पता है की ac current को dc current कैसे बनाना है- ac को dc में क्यों बदला जा रहा है. आप ऊपर दिए हुए चित्र में देख सकते ह इलेक्ट्रॉनिक्स के बहुत सारे कंपोनेंट्स नजर आ रहे हैं जिनके अंदर कुछ कंपोनेंट्स एसी करंट पर चलने वाले हैं. तो कुछ dc करेंट पर चलने वाले है, चूँकि इन्ही कंपोनेंट्स की मदद से कोई आविष्कार किया जा सकता है. इसलिए ac को dc में बदलने की आवश्यक्ता पड़ती है. इसलिए डायोड का आविष्कार किया गया है.  हालांकि इलेक्ट्रॉनिक्स के अंदर सभी कंपोनेंट्स एक शब्द की भांति है इसलिए यह किसी सीमा में बाध्य नहीं होता है कि सिर्फ और सिर्फ एसी करेंट से डीसी करंट बनाने के लिए ही काम करेगा इसके अनंत लाभ उठाए जा सकते हैं जिस प्रकार से एक शब्द होता है जिसका अलग-अलग प्रकार से इस्तेमाल करके अलग-अलग वाक्य बनाया जा सकता है ठीक उसी प्रकार से इलेक्ट्रॉनिक्स के अंदर कंपोनेंट्स भी होते हैं जिनका लाभ अ

what is smps, SMPS क्या है ?

चित्र
 S.M.P.S. का फुल फार्म होता है स्विच मोड पावर सप्लाई। आज के समय में SMPS सप्लाई का इस्तेमाल लगभग सभी डिवाइसों में करने की कोशिश की जा रही है जैसे कि आप नीचे दिए हुए चित्र में देख सकते हैं। अब ऐसा क्यों है क्योंकि एसएमपीएस के अंदर आपको बहुत सारी सुविधाएं मिल जाती है जैसे- यह एक साधारण ट्रांसफार्मर के मुकाबले वजन के हिसाब से काफी हल्का होता है। इसे आवश्यकता के अनुसार रूप भी  दिया जा सकता है इसकी ऊंचाई भी काफी कम हो सकती है आवश्यकता के अनुसार। यह फ्लकचुएशन AC वोल्टेज में भी एक स्थाई आउटपुट  वोल्टेज प्रदान करता है। यह काफी कम AC करेंट पर भी पूरी तरह से काम करने में सक्षम होता है। इसमें आवश्यकता के अनुसार बहुत सारे आउट पुट मिल जाते है  फिक्स वोल्टेज के रूप में।  इस एसएमपीएस के अंदर भी एक ट्रांसफार्मर का इस्तेमाल किया गया रहता है जो कि एसएम ट्रांसफार्मर होता है। यह साइज में बहुत ही छोटा होता है यह ट्रांसफॉर्मर सर्किट की मदद से चालू होता है इसलिए यह स्विच मोड पावर सप्लाई कहलाता है। जो आपका मोबाइल चार्जर होता है वह भी एक स्विच मोड पावर सप्लाई ही है।आपके लैपटॉप का चार्ज़र भी स्विच मोड पावर सप्ला